आमिर सुबहानी के गांव से निकला दूसरा IAS, मोहिबुल्लाह अंसारी ने पास की UPSC Exam, आम जनों में खुशी की लहर।

आमिर सुबहानी के गांव से निकला दूसरा IAS, मोहिबुल्लाह अंसारी ने पास की UPSC Exam, आम जनों में खुशी की लहर।

बिहार के आला अफसरों में शुमार और गृह विभाग के प्रधान सचिव रहे आमिर सुबहानी के बाद उनके गांव-जवार के लड़के मोहिबुल्लाह अंसारी ने यूपीएससी पास कर फिर से राज्य व जिला का मान सम्मान बढ़ाया है।

फुलवारी के शांति कुंज , हारून नगर में रहने वाले मोहिबुल्लाह अंसारी ने यूपीएससी में 389 वां रैंक लाकर परिवार और सूबे के लोगों को गौरवान्वित किया है।

मोहिबुल्लाह ने दो माह पहले बीपीएससी परीक्षा के जारी रिजल्ट में भी अच्छे अंकों के साथ पास किया था।

जिसमें कार्यपालक पदाधिकारी ( एमईओ) में उसका सेलेक्शन हुआ था।

हालांकि मोहिबुल्लाह को यूपीएससी पास करने की उम्मीद थी जिसके चलते एमईओ में ज्वाइन नही किया था।

मोहिबुल्लाह कि पिता अब्दुल्लाह अंसारी सेल्स टैक्स ( एसजीएसटी ) में ज्वाइंट कमिश्नर (इंचार्ज) समस्तीपुर सर्किल में तैनात हैं।

मोहिबुल्लाह यूपीएससी पास करने से परिवार व कॉलोनी समेत पैतृक गांव वालो में भी हर्ष का माहौल है।

उनके परिजन मूल रूप से गोपालगंज जिला के बरहरिया ब्लॉक के परवां गांव के रहने वाले हैं। 

बिहार के गृह विभाग के प्रधान सचिव रहे आमिर सुबहानी के बाद इस ब्लॉक से मोहिबुल्लाह अंसारी मुस्लिम परिवार में दूसरे शख्स हैं, जिन्होंने इतनी बड़ी सफलता यूपीएससी में हासिल किया है।

मोहिबुल्लाह अंसारी का परिवार फुलवारी के हारून नगर शांति कुंज में भी वर्षों से बसा हुआ है।

उनके पिता अब्दुल्लाह अंसारी ने बताया की मोहिबुल्लाह ने स्कूली शिक्षा पटना के डॉन बॉस्को स्कूल से हासिल किया और केमिकल इंजीनियरिंग आईआईटी दिल्ली से करने चला गया।

यूपीएससी में 389वां रैंक आने पर शनिवार देर रात दिल्ली से पटना के फुलवारी शरीफ अपने घर लौटा तो परिजनों ने खुशियों के इजहार करते हुए हौसला अफजाई कर खूब दुआएं दी।

मोहिबुल्लाह अंसारी के दादा मकसूद आलम अंसारी को पोते की इस बड़ी उपलब्धि पर खुशी से फुले नहीं समा रहे हैं।

वहीं मोहिबुल्लाह अंसारी के युपीएससी पास करने पर पूर्व राज्य सभा सांसद अली अनवर अंसारी, एमएलए अवध बिहारी चौधरी, बीजेपी विधायक संजय सरावगी ,

रफिकुर रहमान शाकरी उर्फ मुन्नू शाकरी और मोo उमर फारूक कासमी समेत कई दिग्गज हस्तियों ने बधाई दी.